Monday, 27 May 2013

धोनी के शेर हुए ढेर, मुंबई बना आईपीएल चैंपियन


कोलकाता। आईपीएल-6 के जंपिंग जपांग टाइप फाइनल में मैन ऑफ द मैच कैरन पोलार्ड के आतिशी पचासे के बाद लसिथ मलिंगा की अगुआई में गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन से मुंबई ने चेन्नई को 23 रनों से हरा दिया। मैच की शुरुआत मुंबई के लिए दहलाने वाली रही तो अंत ने चेन्नई को चित कर दिया। मुंबई की जीत के बाद टीम के आइकन प्लेयर सचिन तेंडुलकर ने आईपीएल  को अलविदा कह दिया (जीत के ये रहे हीरो)। 

बीसीसीआई प्रेसिडेंट एन श्रीनिवासन, आईपीएल कमिश्नर राजीव शुक्ला और सचिव संजय जगदाले ने मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा को दस करोड़ रुपए के चेक के साथ चमचमाती ट्रॉफी सौंपी। रनर अप चेन्नई को 7.5  करोड़ रुपए दिए गए। 

मुंबई ने टॉस जीतकर खराब शुरुआत से उबरते हुए निर्धारित 20 ओवर्स में नौ विकेट पर 148  रन बनाए और फिर चेन्नई को 125 के स्कोर पर ही रोक दिया। चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी नॉट आउट 63 रन बनाकर भी टीम की हार नहीं टाल पाए। 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई पर पहले ही ओवर में मलिंगा ने कहर बरपाते हुए माइक हसी और सुरेश रैना को पवेलियन लौटा दिया। इसके बाद मिचेल जॉनसन ने दूसरे ओवर में एस बद्रीनाथ को आउट कर चेन्नई को मुश्किल में डाल दिया। 

शुरुआती झटकों से चेन्नई नहीं उबर पाई और उसके विकेट लगातार गिरते रहे। हालाकि कप्तान धोनी दूसरे एंड पर किला लड़ाते रहे लेकिन उनका प्रयास नाकाफी रहा और मुंबई ने पहली बार आईपीएल खिताब जीत लिया। मुंबई के लिए लसिथ मलिंगा, मिचेल जॉनसन ओर हरभजन सिंह ने दो-दो विकेट लिए वहीं प्रज्ञान ओझा, रिषी धवन और कैरन पोलार्ड ने इस महामुकाबले में एक-एक विकेट अपने नाम किया।  

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने उतरी ने कैरन पोलार्ड के आतिशी पचासे (32 गेंद पर 50 रन) की बदौलत निर्धारित 20 ओवर में 148 रन बनाए। मुंबई की शुरुआत बेहद खराब रही। पिछले मैच के हीरो ड्वेन स्मिथ पहले ही ओवर में आउट हो गए और दूसरे ओवर में आदित्य तारे भी चलते बने। कप्तान रोहित भी संकट के समय टीम का साथ नहीं निभा पाए और चौथे ओवर में आउट हो गए। इस तरह मुंबई ने केवल 16 रनों के स्कोर पर ही तीन विकेट खो दिए।

इसके बाद दिनेश कार्तिक और अंबाती रायुडू ने चौथे विकेट के लिए 36 रन  जोड़कर पारी को संभाला। कार्तिक को क्रिस मॉरिस ने बोल्ड कर यह साझेदारी तोड़ी। कार्तिक ने 21 रनों की उपयोगी पारी खेली। 

कार्तिक के आउट होने के बाद अंबाती और रायुडू ने टीम को 100 के स्कोर तक पहुंचाया। यहां रायुडू 37 रन बनाकर ब्रावो का शिकार हो गए। इसके बाद ब्रावो ने हरभजन, जॉनसन और मलिंगा को भी आउट कर दिया। 

दूसरी ओर पोलार्ड मौका मिलते ही रन बनाते रहे। आखिरी ओवर में पोलार्ड को केवल आखिरी दो गेंदें खेलने को मिलीं जिन पर दो गगनचुंबी छक्के जड़ पोलार्ड ने अपनी फिफ्टी पूरी की। 
सचिन ने आईपीएल को कहा अलविदा

मुंबई इंडियंस के आईपीएल का पहला खिताब जीतने के बाद टीम के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने संन्यास की घोषणा कर दी है।

सचिन ने अपने संन्यास के फैसले पर कहा कि यह सबसे उचित समय है। मुंबई इंडियंस की टीम आईपीएल चैंपियन बनी इसके बाद उनके संन्यास लेने का फैसला सही है।

हालांकि गावस्कर ने सचिन से कहा कि अगले सीजन का पहला मैच मुंबई में खेला जाएगा। आप क्यों नहीं पहले मैच में खेल कर मुंबई में संन्यास लें। इसके जवाब में सचिन ने कहा कि अगर ऐसा कोई ऑफर मिलता है तो वो उसके बारे में जरूर सोचेंगे। 

फाइनल में चेन्‍नई सुपर किंग्स को 23 रनों से हराकर मुंबई इंडियंस ने पहली बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया। हालांकि सचिन फाइनल में नहीं खेले लेकिन उनका योगदान मुंबई इंडियंस के लिए अहम रहा।
सचिन ने आईपीएल कैरियर में 78 मैचों में 2234 रन बनाए। मुंबई इंडियंस की टीम दूसरी बार फाइनल में पहुंची थी।

No comments:

Post a Comment