Sunday, 24 June 2012

प्रसाद में मादक पदार्थ

मदुरै. विवादास्पद स्वामी नित्यानंद के खिलाफ पवित्र जल (प्रसाद) में मादक पदार्थ (ड्रग्स) मिलाने का केस दर्ज किया गया है। उनपर पहले से ही कई केस चल रहे हैं। पुलिस ने शनिवार को मद्रास हाईकोर्ट को केस दर्ज करने की जानकारी दी है। मामले में नित्यानंद के अलावा दो और लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है। कोर्ट ने एम सोलाई कन्नन की शिकायत पर पुलिस को एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने मद्रास उच्च न्यायालय को जानकारी दी है कि उन्होंने नित्यानंद और दो दूसरे लोगों के खिलाफ श्रद्धालुओं को पवित्र पानी या चरणामृत के नाम पर ड्रग्स मिला हुआ पानी देने एक मामला दर्ज किया है। नित्यानंद के खिलाफ एम सोलुईकन्नन की शिकायत पर जब मद्रास हाईकोर्ट के सामने ये मामला सुनवाई के लिए आया तो सरकारी वकील ने अदालत को जानकारी दी कि पुलिस ने कई धाराओं के तहत नित्यानंद के खिलाफ केस दाखिल कर लिया है। नित्यानंद ने बैंगलोर आश्रम को छोड़कर एक बेहद पुरानी धार्मिक संस्था मदुरई अधीनम में अपना ठिकाना बनाया है। वह आश्रम में अपने भक्तों को जो पवित्र तरल प्रसाद देते थे उसमे ड्रग्स की मिलावट होती थी। उन्होंने अपने कई भक्तों की धार्मिक भावनाओं और स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया है। गौरतलब है कि स्वामी को रेप, अश्लीलता और मार-पीट के आरोप में कुछ दिन पहले ही गिरफ्तार किया गया था। बाद में उनको दो मामलों में जमानत मिली थी। उनके आश्रम में तलाशी के दौरान कई चौंकाने वाली चीजें मिली थीं। दुनिया भर में योग का प्रचार करने वाले बाबा के निजी कमरे से ट्रेडमील और डंबल्‍स मिले थे। जांच के दौरान उनके कमरे में डबल बेड, एयर कंडीशन, एलसीडी टीवी और लॉकर पाया गया था। लाकर से ज्वेलरी और निजी दस्तावेज बरामद हुआ था। इसे जांच के लिए सीज कर दिया गया था। बाबा ने इस जांच के खिलाफ करोड़ों के हर्जाने का केस दायर किया था।

No comments:

Post a Comment