Monday, 23 September 2013

चिदंबरम ने मोदी पर साधा निशाना तो यशवंत सिन्हा ने किया पलटवार

नई दिल्ली। गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी बनाम यूपीए सरकार का वाक युद्ध लंबे समय से देखा जा रहा है। कभी नरेंद्र मोदी केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद करते हैं तो कभी सरकार का कोई मंत्री उनकी बातों का एनकाउंटर करता है। ये सिलसिला यहीं खत्म नहीं होता। इसी कड़ी में आज वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने पहले मोदी पर हमला बोला, फिर चिदंबरम की बातों को काटते हुए बीजेपी के नेता यशवंत सिन्हा ने बयान दिया। चिदंबरम ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री तथ्यों के साथ फर्जी एनकाउंटर करते हैं। गौरतलब है कि मोदी ने कहा था कि अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार में देश की विकास दर सबसे ज्यादा थी। चिदंबरम ने एक बयान में कहा, 'समझ नहीं आता कि नरेंद्र मोदी तथ्यों के साथ फर्जी एनकाउंटर क्यों करते हैं। अंतत: तथ्य सामने आ ही जाते हैं।' उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के समय देश की औसत विकास दर 6 फीसद थी। रविवार को मोदी ने कहा था, 'मैं अपने कांग्रेस मित्रों को कहना चाहता हूं कि आप इस बात पर सहमत होंगे कि वाजपेयी सरकार के समय 8.4 फीसद की विकास दर थी लेकिन आज इस सरकार के तहत 4.8 फीसद है।' पी. चिदंबरम के बयान पर तत्काल प्रक्रिया देते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा कि चिदंबरम तथ्यों के साथ आतंकवाद करते हैं। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि अगर मोदी फेंकू हैं तो चिदंबरम सुपर फेंकू। मोदी के इस दावे पर हमला करते हुए चिदंबरम ने कहा कि यूपीए 1 के कार्यकाल के दौरान औसत विकास दर 8.4 फीसद थी। अगर स्वर्णिम काल था तो वह यूपीए 1 के दौरान ही था। वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि दशक के दो साल सबसे ज्यादा खराब रहे एक 2001-02 (4.3 फीसद) और 2002-03 (4 फीसद)। इन दोनों सालों में बीजेपी की सरकार रही।

No comments:

Post a Comment